शनिवार, सितंबर 23, 2017

बारिश, छतरी, यादें और वो चीनी लड़की

अचानक बारिश ने बाहर का प्रोग्राम कैंसिल कर दिया.....घर से निकले अलग-अलग लोग, कहीं न कहीं फंसे गये...सो हमने गुड़गांव और आगे सोहना रूकने का प्रोग्राम आगे के लिए मुल्तवी कर दिया...लेकिन बारिश थी..हम बाहर थे, तो मैं निकल पड़ा इधर-उधर...इस बार मैं बड़े दिन बाद छतरी लेकर घर से निकला था...घूमने के दौरान भीगते हुए एक आवाज गूंज गई ''ओ छतरी वाले बाबू हमें भी साथ ले चलना'' फिर.....खैर यादों को कौन सा निमंत्रण देना होता है। वो तो ऐसे ही अचानक आ जाती हैं। हां तो बात हो रही थी छतरी की....तो कल मेट्रो से निकल कर छतरी खोल ही थी कि एक आवाज आई..कैन यू ...
मैं मुड़ा, देखा एक नॉर्थ ईस्ट की लड़की है...मैने कहा ..कहां जाना है, वो समझी नहीं..उसने मुस्कुरा कर छतरी की तरफ इशारा किया...मैं समझ गया उसे हिन्दी नहीं आती...मैने मेहनत करके अंग्रेजी याद की और पूछा ..वेयर यू वांट टू गो..उसने इशारा किया '' देयर..आई वांट..मैंने उधर देखा सोसायटिज थीं, मुझे लगा शायद चौराहे तक जाएगी,...मैने दोबारा मुड़कर लड़की की तरफ देखा, तब मुझे लगा वो इंडियन नहीं है....इसलिए मदद करना तो लाजिमी थी..उसपर लड़की थी, वो भी चीन की......उसे छतरी मैं लेकर आगे बढ़ा...वो चुपचाप चलती रही..कद मुझसे भी छोटा..कुछ दूर जाकर वो चारों तरफ देखने लगी...मैने पूछा किस सोसायटी में जाना है, वो बोली ''देयर मेनी रेस्टोरेंट'', तब मुझे लगा ये इंग्लिश इतना अच्छा जानती है, जितनी मैं। यानि हम दोनो अंग्रेजी में बात कर सकते हैं। मैने पूछा, हांगकांग, वो बोली नो चाइना, यांग, झांग स्टेट ..यू नो। मुझे हंसी आ गई..मैं समझ गया, हमारी अंग्रेजी अंग्रेज नहीं समझेगा, पर हम आपस में आसानी से एक-दूसरे की अंग्रेजी समझ जाएंगे..साथ ही मुझे डोक्लाम भी याद आ गया, और हंसी भी आई....अपने गंतव्य पर पहुंच कर वो बोली, यू इंडियन वेरी नाइस....वैरी थैंक्यू..नमस्ते फोर हेल्प....मुझे हंसी आ गई.लेकिन खुशी से दमकते उसके चेहरे को देखकर उसे "धन्यवाद" शब्द नहीं बता पाया....खैर मैंने छतरी संभाली, और खुद को पार्टी देने आगे बढ़ गया...दिमाग में ये चल रहा था क्या चीन की वामपंथी सरकार इस लड़की जैसी क्यों सोचती नहीं है?
#हिन्दी_ब्लॉगिंग
#हिंदी_ब्लॉगिंग

https://www.youtube.com/watch?v=li_9gQgYpYI

मां..काश कुछ फिल्मी फरिश्ते मिलते

   पुरानी फिल्मों में फैमली डॉक्टर के हाथ में एक जादू का बक्सा होता था। कैसी भी बीमारी हो , एक गोली देता था , या इंजेक्शन लगाता था और ब...