शादी के प्रपोजल ने ली प्रेमिका की नौकरी

प्रेमी ने प्रपोज किया और प्रेमिका ने मान लिया। नतीजा प्रेमिका की नौकरी चली गई। है न प्यार का साइड इफेक्ट। आप सोच रहे होंगे ऐसा कैसे हो सकता है। कंपनी को प्रेमिका की निजी जिन्दगी से क्या लेना देना? बात सच है, लेकिन इस केस में ऐसा हो न सका। प्यार का इजहार और शादी के लिए प्रपोज तो प्रेमी ने बड़े रोमांटिक अंदाज में किया। अंदाज भी वो, जो अनेक बार, अनेक लौंडों ने अपनी गर्लफ्रैंड को प्रपोज करने के वक्त अपनाया होगा। वो ही सदियों पुराना, पर सबसे रोमांटिक अंदाज में शुमार, घुटनो के बल बैठकर, प्रेमिका का हाथ पकड़ कर उसे शादी का प्रपोज करना। जनाब ने उसी अंदाज में अपनी प्रेमिका को शादी का प्रपोज किया। भला ऐसे रोमांटिक अंदाज पर कौन प्रेमिका मर नही मिटेगी?
          अब इसमें गड़बड़ ये हो गई कि प्रेमी ने जिस वक्त प्रपोज किया, उस वक्त बेचारी प्रेमिका अपनी नौकरी बजा रही थी। प्रेमिका असल में एय़र होस्टेज है, यानि व्योमबाला। प्रपोज के वक्त वो फ्लाइट में थी। जहाज के टेकऑफ करने के 30 मिनट बाद प्रेमी घुटने के बल बैठ गया। उसके बाद उसने शादी के लिए प्रपोज कर दिया। ऐसे में एयरहोस्टेज न नहीं कर सकी, और उसने हां कर दी। बस इसके बाद प्यार के इजहार का साइड इफेक्ट शुरू हो गया। एयलाइंस को ये अंदाज पंसद नहीं आया और उसने व्योमबाला की छुट्टी कर दी। 
         एयरलाइंस ने तर्क दिया की इससे यात्रियों में हलचल मच गई थी। जिससे उनकी सुरक्षा को खतरा हो गया था। देखा जाए तो बात सही, एयरलाइंस को यात्रियों की सुरक्षा का ख्याल रखना होता है। यहीं पर सवाल खड़ा होता है। जब ऐसा ही कोई कार्यक्रम एयरलाइंस अपनी फ्लाइट में करती हैं, तो क्या सुरक्षा में खलल नहीं पड़ता क्या? यानि मार्केटिंग के लिए कोई भी ट्रिक एकदम सही हैं? यही काम अगर कोई प्यार का मारा करे तो हाय-तौबा। यार कम से कम तर्क तो कोई ऐसा देते जो पचता। 
    खैर चलिए इससे ये तो सबक मिला की प्रपोज करना हो तो, कहीं सार्वजनिक जगह पर करने से बेहतर है कि अपने अधिकार वाली जगह पर प्रपोज करने के फंडे इस्तेमाल करें। चाहे तो पूरा जहाज खरीद लें, चाहे पूरा रेस्टोरेंट बुक कर लें, पर प्रेमिका की नौकरी वाली जगह पर प्रपोज न करें।
इस घटना से आशिकों के लिए सबक
  1. घुटने के बल बैठकर आजकल प्रेमिकाएं भी प्रपोज करती हैं। तो वो भी गांठ बांध लें कि प्रेमी को इस तरह उसकी नौकरी करने की जगह पर प्रपोज न करें। 
  2. लौंडों तुम तो खास ध्यान रखना, कहीं तुम्हारी बेरूखी से गुस्साई कोई छोरी भड़क गई तो तुम्हारी नौकरी की ऐसी-तेसी फेर देगी। वैसे भी बरसों पहले ही जीनत अमान जी तुम्हारी नौकरी को दो टकिया कह कर सबको भड़का चुकी हैं, वो दिन गए जब बेचारी आशा पारेख जी ने गाया था नौकरी छोड़ के न जाइयो बालमा, 
  3. आजकल की छोकरियों का गुस्सा आव देखता न ताव, वो तुम्हारी नौकरी लेकर ही मानेंगी, और हां, ये मत सोचना की बाद में पछताएंगी, 
  4. तो भईया, टाइम देना अपनी प्रेमिकाओं को, वरना....समझ ही गए होगे,...लिखा कम है, समझना ज्यादा...
तो भाईय़ों बोलना मत, कि हमने समझाया नहीं। हां, ये पोस्ट पढ़कर शादीशुदा लोगो को जोश चढ़ रहा हो, तो मुझे बता सकते हैं कि उनके प्रपोज के बारे में और कैसे वो रिजेक्ट हो गए थे। भले ही नाम इनबॉक्स में बताना। यानि जख्म को कुरेद देना।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Miss Word, Miss universe, Mis फलाना...फलाना..सुंदरियां

Sheela ki jawani ( katrina kafe Song)......हाय हाय...शीला की 'कालजयी' जवानी

Munshi Premchand .उपन्यास सम्राट किराए पर....रोहित

Delhi Metro करें एक रोजाना का सफ़र....Rohit

Parveen Babi...अकेले हैं तो गम है?

मेरी जान तिरंगा...मेरी शान तिरंगा...। Rohit